Mukhymantri Bal Gopal Yojana हफ्ते में 2 दिन बच्चों को दूध

Mukhymantri Bal Gopal Yojana | rajasthan.gov.in | Mukhymantri Bal Gopal Yojana Kya Hai | Mukhyamantri Bal Gopal Yojana ka sambandh kisse hai | Mukhymantri Bal Gopal Yojana par lekh | mukhyamantri bal gopal yojana rajasthan online registration |

अक्सर ग्रामीण इलाकों में रह रहे बच्चों को पर्याप्त पोषण नहीं मिल पाता है जिसे कारण वहाँ के बच्चें कुपोषण के शिकार हो जाते है| इस बीमारी से लड़ने के लिए केंद्र सरकार द्वारा मिड डे मील जैसी योजनाएं भी शुरू की गई ताकि बच्चों को कुपोषण का शिकार न होना पड़े। लेकिन अभी भी बच्चों में एनीमिया कैल्शियम आदि की कमी पाई जाती है।

इस समस्या का खास ध्यान रखते हुए राजस्थान सरकार द्वारा Mukhymantri Bal Gopal Yojana 2023 की शुरुआत की गई है। राज्य सरकार द्वारा इस योजना की घोषणा 2022-23 के बजट में की गई| राजस्थान मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों को निशुल्क दूध उपलब्ध कराया जाएगा।

इस लेख के माध्यम से हम इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी साझा करेंगे, यदि आप इस योजना से संबंधित जानकारी जानने की इच्छा रखते है तो इस लेख को अंत पढ़े|

Mukhymantri Bal Gopal Yojana

Mukhymantri Bal Gopal Yojana 2023 (बाल गोपाल योजना क्या है)

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना 2023 का शुभारंभ राज्य स्तर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 29 नवंबर 2022 को सिविल लाइन जयपुर में किया गया। इस योजना को पूरे राजस्थान में एक साथ शुरू किया गया है। इस योजना के तहत राज्य के सरकारी स्कूलों में पहली से आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले बच्चों को मिड डे मील के साथ दूध भी उपलब्ध कराया जाएगा।

Mukhymantri Bal Gopal Yojana के अंतर्गत दूध सप्ताह में दो बार अर्थात मंगलवार और शुक्रवार को बच्चों को दिया जाएगा। मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों को 15 ग्राम पाउडर दूध से 150 मिलीलीटर दूध तथा कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों को 20 ग्राम पाउडर दूध से 200 मिलीलीटर दूध उपलब्ध करवाया जाएगा।

Mukhyamantri Bal Gopal Yojana के तहत मिड डे मील से जुड़े राज्य के विद्यालय, प्राइमरी विद्यालय, मदरसों, विशेष प्रशिक्षण केंद्रों में राज्य सरकार द्वारा पाउडर वाला दूध उपलब्ध कराया जाएगा। राजस्थान कोऑपरेटिव डेयरी फाउंडेशन से पाउडर मिल्क की खरीद की जाएगी।

योजना का नाम Mukhymantri Bal Gopal Yojana
शुरू की गई मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा
लाभार्थी राज्य के कक्षा 1 से 8 तक के बच्चे
लाभ छात्र-छात्राओं को पोषण प्रदान करने के लिए दूध की उपलब्धता|
आधिकारिक वेबसाइट rajasthan.gov.in

Mukhymantri Bal Gopal Yojana का उद्देश्य

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के विद्यालय, प्राइमरी विद्यालय, मदरसों, विशेष प्रशिक्षण केंद्रों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को पोषण प्रदान करने के लिए दूध का वितरण करना है। ताकि राज्य का कोई भी बच्चा पर्याप्त पोषण से दूर न रहे और साथ ही एक से आठवीं तक के बच्चों को कुपोषण से बचाया जा सके|

Mukhymantri Bal Gopal Yojana के माध्यम से बच्चों को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन युक्त दूध मिलने से स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। दूध से बच्चों का शारीरिक एवं मानसिक विकास तीव्र गति व् पूर्ण रूप से होगा और साथ बच्चे बीमारियों से भी दूर रहेंगे। इस योजना के अंतर्गत पाउडर मिल्क से तैयार दूध बच्चों को सप्ताह में दो बार उपलब्ध करवाया जाएगा।

प्रार्थना सभा के तुरंत बाद स्कूलों में बालों को को दूध पिलाया जाना है। निर्धारित दिन अवकाश होने पर अगले शिक्षक दिवस पर छात्र-छात्राओं को दूध पिलाया जाएगा। पाउडर मिल्क की आपूर्ति राजस्थान कोऑपरेटिव डेयरी फाउंडेशन लिमिटेड से किया जाएगा।

राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना ऑनलाइन आवेदन

Mukhymantri Bal Gopal Yojana के लाभ

  • बाल गोपाल योजना के माध्यम से मिड डे मील से जुड़े राजस्थान के विद्यालय, प्राइमरी विद्यालय, मदरसों, विशेष प्रशिक्षण केंद्रों में छात्र छात्राओं को दूध उपलब्ध कराया जाएगा।
  • Mukhymantri Bal Gopal Yojana के तहत राजस्थान के कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों को सप्ताह में 2 दिन अर्थात मंगलवार एवं शुक्रवार को मिल्क पाउडर उपलब्ध कराया जाएगा।
  • विद्यालय प्रबंधन की बच्चों को दूध देने की जिम्मेदारी होगी और दूध की गुणवत्ता को मापने की जिम्मेदारी विद्यालय प्रबंधन समिति तथा आरसीडीएफ की होगी।
  • मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों को 15 ग्राम पाउडर दूध से 150 मिलीमीटर दूध और कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों के लिए 20 ग्राम पाउडर दूध से 200 मिलीमीटर दूध स्कूलों द्वारा पीने के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त कर बच्चे मानसिक एवं शारीरिक रूप से मजबूत होंगे।
  • बाल गोपाल योजना के माध्यम से बच्चे स्कूल में दाखिला लेने के लिए प्रोत्साहित होंगे। जिससे शिक्षा ग्रहण करने में भी सुधार होगा।
  • इस योजना के माध्यम से राजस्थान के लगभग 60 लाख बच्चों को फायदा मिलेगा।
  • Mukhymantri Bal Gopal Yojana के माध्यम से बच्चों को पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन युक्त दूध मिलने से स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा।

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत दूध की मात्रा

राजस्थान के कक्षा 1 से 8 तक के छात्र छात्राओं को निर्धारित मात्रा के अनुसार दूध उपलब्ध कराया जाएगा:-

कक्षा स्तर पाउडर मिल्क की मात्रा (प्रति छात्र) तैयार दूध की मात्रा (प्रति छात्र) चीनी की मात्रा
प्राथमिक (कक्षा एक से 5 तक) 15 ग्राम 150 मिलीमीटर 8.4 ग्राम
उच्च प्राथमिक (कक्षा 6 से 8 तक) 20 ग्राम 200 मिलीमीटर 10.2 ग्राम

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के लिए पात्रता (Eligibility)

  • मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के तहत मिड डे मील योजना से लाभान्वित प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों, मदरसों, स्पेशल ट्रेनिंग सेंटर में अध्ययनरत छात्र-छात्राएं पात्र होंगे।
  • इस योजना का लाभ केवल राजस्थान के कक्षा एक से आठवीं तक के बच्चों को प्रदान किया जाएगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top